जलपरियों की बारिश ( story of jalpari in hindi)

इस कहानी में आप पढ़ेंगे चंगू ,मंगू और पंगु तथा जल परियों की कहानी ( story of jalpari in hindi) जिसमें जल परियों की बारिश होती है, आपको इस हिंदी कहानी(hindi kahaniyan) को पढ़ने में बहुत मज़ा आएगा।


story of jalpari in hindi

Download latest movies and series - click here

जलपरियों की कहानी (jalpari ki kahani)

मुरादपुर गांव में चंगू, मंगू और पंगु नाम के 3 दोस्त रहते थे। तीनों रोजाना पार्क में मिला करते थे।

 एक दिन तीनों पार्क में बैठे थे तभी चंगू बोला ---आज बहुत गर्मी है मन कर रहा शर्ट निकाल कर फेंक दू।

 मंगू बोला ----काश बारिश हो जाती  थोड़ी गर्मी कम हो जाती।
 फिर मंगू बोला ---- हम तीनों अपनी जिंदगी में कितने अकेले हैं, हमारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है। सावन आता तो हम अपनी गर्लफ्रेंड के साथ नाचते कितना मजा आता।
  
story of jalpari in hindi


चंगू बोला---- हमारे गांव की सभी लड़कियों की शादी हो गई है ।  केवल हम ही ऐसे हैं जिसकी शादी नहीं हुई है।
 उधर जल परियों के देश के लोग पृथ्वी के ट्रिप की प्लान बना रहे थे।

 जलपरी अपनी साथियो से बोली ---- सुनो जल परियों , हमारा पृथ्वी पर जल के रास्ते जाना सही नहीं है। मैं तुम लोगों को एक कालीन  देती हूं । तुम लोग उस पर बैठकर जाओगी और मैं तुम्हें ऐसी शक्ति देती हूं कि- तुम एक महीने तक पृथ्वी पर रह सकती हो बिना समुंद्र के ।  और एक महीने बाद मैं तुम लोगों को वापस लेने पृथ्वी पर आऊंगी।
अपनी पृथ्वी की ट्रिप इंजॉय करना जल परियों।



उधर चंगू मंगू के गांव में बारिश  होने वाली थी। तीनों देखते हैं उधर लोग अपनी पत्नियों के साथ डांस कर रहे हैं।

चंगू बोला---- बारिश शुरू हो गई है सभी लोग डांस कर रहे हैं। हमारी किस्मत फूटी  है की हमारी अभी तक शादी नहीं हुई है ।और हमारी कोई लड़की दोस्त भी नहीं है जिसके साथ हम घूम सके।

 पंगु बोला ----चलो दोस्तों हम नदी की तरफ चलते हैं वहां मजा आएगा । ठंडी- ठंडी बारिश की हवा में और बारिश का मजा लेते हैं ।
  चंगू मंगू और पंगु तीनों नदी की ओर जाते हैं और बारिश में नहाने लगते हैं ।

तभी सारी जल परियां अपनी कालीन पर बैठकर पृथ्वी पर आती हैं


story for kids in hindi


जलपरियों की बारिश


उनमें से एक जलपरी बोली----सुनो जल परियों बारिश होने के कारण हमारी कालीन भीग चुकी है। इसलिये हम लैंड  नहीं कर सकते हमें यही से कूदना होगा ।
 
चंगू मंगू और पंगु बारिश का मजा ले रहे होते हैं तभी उनके गांव में बहुत सारी जल परियां गिरती हैं
चंगु बोला----लगता है हमारे गांव में जल परियों की बारिश हो रही है । हे भगवान!  हमें भी एक जलपरी दे दो मंदिर में आकर ₹11 का प्रसाद चढ़ा लूंगा।

चंगू अपने हाथ फैला लेता है तभी उसकी गोद में एक जलपरी आकर गिरती है ।
 फिर जलपरी बोली कैच करने लिए धन्यवाद ! मेरा नाम मेरा नाम मरीना जलपरी है । और तुम्हारा नाम?
    मेरा नाम चंदू है
तुम कितनी ब्यूटीफुल हो। मांगू और पंगु के हाथ में भी एक एक जल परियां गिरती हैं। और तीनों बहुत खुश हो जाते हैं ।
तीनों जल परियों को लेकर अपने अपने घर जाते हैं अगले दिन तीनों पार्क में मिलते हैं और कहते हैं ।

चंगु बोला----मुझे जो कल जलपरी मिली थी उसका नाम मरीना है

फिर पंगु बोला----- मुझे रोबाना जलपरी मिली है।

फिर मंगू बोला----- मुझे फातिमा जलपरी मिली है  ।
 
चंदू बोला---- जल परियां पृथ्वी  घूमना चाहती हैं। चलो हम उन्हें सिनेमा दिखाते हैं और रेस्टोरेंट में खाना खिलाते हैं। फिर मांगू बोला---- लेकिन कैसे लेकर उन्हें घूमेंगे उनकी तो पूछ है ।
   
 चंगू ने बोला --- मरीना  ने बोला था वह इंसानी का रूप भी ले सकती हैं जिनके 2 पैर होते हैं।

चंगू ,मंगू ,पंगू जल परियों के साथ सिनेमा देखने जाते हैं और फिर रेस्टोरेंट में खाना खाने जाते हैं ।
 तीनों पृथ्वी पर घूमती हैं सभी बहुत मजे करते हैं।
   
फिर मंगू बोला----रात हो चुकी है चलो हम अपने अपने घर चलते हैं ।
 कल हम लोग फिर से मिलेंगे ।चंगू मरीना के साथ अपने घर की तरफ चल लेता है।मांगू और पंगु भी अपनी-अपनी जल परियों के साथ घर चल देते हैं।
   
 एक दिन चंगू  सीढ़ियों से उतर रहा होता है तो उसका पैर फिसल जाता है और उसके सिर में चोट लग जाती है।

उसकी जलपरी बोली ---हम जल परियों में बहुत शक्ति होती है। अगर हम किसी के तीन दिन माथा चूम लेते हैं तो उनकी कोई बीमारी ठीक हो जाती है ।


चंगू बोला ---क्या?   माथा चूमने से घाव भर जाएगा ।
उसकी जलपरी बोली---- हां चंदू हमारे पास बहुत शक्तियां हैं । जिससे घाव ठीक हो सकता है। मरीना जलपरी अगले तीन दिन तक सुबह उठकर माथा चुमति है और तीन दिनों में चंगू का घाव भर जाता है ।

story for kids in hindi

जब गांव वालों को यह पता लगता है कि जल परियों के माता चुमने से घाव ठीक हो जाता है। चंगू, मंगू और पंगु के घर के बाहर लाइन लग जाता है । उसमें से सभी अपनी-अपनी बीमारी  बताते हैं और बोलते हैं कि जलपरी से कहो हमें भी ठीक कर दे ।

चंगू बोला----- हे भगवान !  मैंने यह आफत मोल ली है।
उसकी जलपरी बोली----- चिंता मत करो मैं सब को ठीक कर दूंगी। सबको जादुई पानी पिला दूंगी और सब ठीक हो जाएंगे।
 हमारे पास एक जादुई पानी होता है जिससे बीमारियां भी ठीक हो सकती हैं ।

चंगु बोला----यह ठीक रहेगा अब तुम किसी का माथा नही चुमोगी। जल परियों के दिए हुए पानी से गांव वालों की बीमारी ठीक हो जाती है।
एक महीने बीत जाता है और उनकी जलपरी रानी उन्हें लेने वहां पहुंच जाती है।

चंगू बोला ----- मत जाओ तुम्हें यहां क्या परेशानी है ? मुझसे शादी कर लो हम साथ साथ रहेंगे।
उसकी जलपरी बोली----- मुझे जाना होगा मेरे माता-पिता समुंद्र में इंतजार कर रहे हैं।

 मरीना जलपरी बोली----- तुम चिंता मत करो मैं दोबारा  जरूर आऊंगी।
  चंगू बोला ----- नहीं तुम समुंद्र में जाकर मुझे भूल जाओगी और दोबारा वापस नहीं आओगी।
   
उसकी जलपरी बोली ----नहीं चंगू मैं तुम्हें कभी नहीं भूलूंगी । मैं तुमसे प्रेम करने लगी हूं मैं वापस जरूर आऊंगी।


story for kids in hindi


चंगू बोला----- ठीक है जलपरी जरूर वापस आना।
मरीना परी बोली---- ठीक है मैं वापस आऊंगी और तुमसे शादी करूंगी ।

मांगू और पंगु भी अपने-अपने जल परियों से विदा लेते हैं। जलपरियां अपने देश पहुंच जाती हैं।



इस साइट पर आपको मोरल स्टोरीज(moral stories in hindi), मर्माइड्स स्टोरीज(jalpari ki kahani) और अन्य नई हिंदी कहानियां(hindi kahaniyan new) जैसी कहानियां मिलती हैं। ऐसी ही कहानियों (hindi kahaniyan) को पढ़ने के लिए आप हमारी वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं। धन्यवाद

*

एक टिप्पणी भेजें (0)
और नया पुराने

Billboard Ad